LOADING

Type to search

मायानगरी की चकाचौंध में चमकता दिल्ली का एक सितारा

mayankshukla 2 years ago
Share

मिलिए TV इंडस्ट्री की Charming & Positive Personality समर्थ शांडिल्य से

टीवी सीरियल परफेक्ट पति के सेट पर जया प्रदा और अन्य कलाकार के साथ समर्थ

दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 8 में रहने वाले समर्थ पिछले कई सालों से मायानगरी मुंबई में रहकर अपने अरमानों के आसमां को नई ऊंचाई द रहे हैं।  बचपन में ही अदाकारी की दुनिया को दिल दे बैठे समर्थ का अभिनय के प्रति जुनून भी बढ़ती उम्र के साथ लगातार बढ़ता चला गया। साकेत के ज्ञानभारती स्कूल में बेस्ट एक्टर के मिले दर्जनों अवार्डस ने उन्हें कच्ची उम्र में हीं मंजिल का रास्ता बता दिया था। बाकी का काम दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से मिली स्कॉलरशिप ने कर दिया।

एक्टिंग के जुनून से सपनों के जहान तक का सफर तय करने वाले छोटे पर्दे के परफेक्ट पति और रंगीला फेम समर्थ शांडिल्य Positive Attitude को अपनी सफलता का मूल मंत्र मानते हैं।

नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से मिली स्कॉलरशिप समर्थ के लिए उनके सपनों की एक शुरूआत थी। ग्लैमर और चकाचौंध से भरी जिस मायानगरी में जाने के लिए समर्थ्य बचपन से ही बेताब थे, वहां तक पहुंचने का एक रास्ता एनएसडी से होकर भी गुजरता है क्योंकि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को इरफान खान और पंकज कपूर जैसे दमदार अभिनेता एनएसडी ने ही दिए। एनएसडी में समर्थ्य को जाने-माने अभिनेताओं-अभिनेत्री के निर्देशन में अभिनय के गुर सीखने का मौका मिला।

प्रिंट एडवरटाइजमेंट से टीवी की दुनिया में कदम रखने वाले समर्थ की कहानी कुछ खास है। स्कूल के बॉर्डम को खत्म करने के लिए समर्थ ने स्कूल ऑडिटोरियम मे होने वाले प्ले को चुना और उन स्कूल ड्रामा से शुरू हुई दिल्ली बॉय समर्थ शांडिल्य के सपनों के सफर की कहानी।

जी हां, दिल्ली बॉय कहना इन्हें एकदम परफेक्ट है। स्टाइलिश,डैशिंग,कूल एंड हेंडसम समर्थ शांडिल्य हमेशा से अपने अनोखे अंदाज़ के लिए जाने गए हैं। जर्मनी से अपना पोर्टफोलियो बनवाने वाला ये एक्टर एडवाइरटाइजमेन्ट की दुनिया में सेन्सेशॅन बन गया था। मायानगरी में यूं तो हर रोज लाखों लोग अपने सपने लेकर पहुंचते हैं लेकिन समर्थ की तरह इतनी परफेक्ट स्टार्ट बहुत ही कम लोगो कों नसीब होती है। जर्मनी में पोर्टफोलियो शूट करते टाइम ही उन्हें अपनी लाइफ का फर्स्ट टीवी एडवाइरटाइजमेन्ट ऑफर हुआ जिसके बाद उन्हें बेक टू बेक टीवी शोज मिलना शुरू हुए। इनमें कई शोज यूथ पर बेस्ड थे,जिनसे समर्थ को एक नई पहचान मिली। बॉलीवुड के किंग खान शाहरूख की जिंदगी से प्रेरणा लेकर फिल्म उद्योग में अपना खुद का एक मुकाम बनाने वाले समर्थ 30 साल की उम्र मे कई बड़े अभिनेताओं के साथ काम कर चुके हैं। वो कहते है न अगर आप पूरी शिद्दत से किसी चीज़ को चाहो तो सारी कायनात आपको उससे मिलाने में जुट जाती है, ऐसा ही कुछ समर्थ के साथ भी हुआ समर्थ का हमेशा से एक सपना रहा है शाहरूख खान से मिलना, समर्थ हमेसा से ही SRK के बड़े फैन रहे हैं और इस फैन का सपना किंग खान की मूवी फैन में पूरा भी हुआ। जहां एक स्टाइलिश के तौर पर उन्होंने किंग खान के ड्रेसअप में बड़ी हेल्प की और SRK को भी समर्थ का स्टाइल बड़ा पसंद आया। लेकिन समर्थ की एक इच्छा आज भी अधूरी है और वो है बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख़ के साथ एक बार स्क्रीन शेयर करना। 

समर्थ का मानना है कि एक्टिंग को परफेक्ट बनाने की नहीं बल्कि सहज बनाने की कोशिश करनी चाहिए। अब तक 365 एड फिल्म का हिस्सा बन चुके समर्थ ने 6 फिल्मों में भी काम किया है। इस साल प्यार का पंचनामा फेम डायरेक्टर लव रंजन के साथ उनकी एक और फिल्म आने वाली है। समर्थ ने टीवी पर 10 साल पहले  साडा हक सरियल के साथ डेब्यू किया था। वहीं 2015 में आई फिल्म आई एम कलाम में पहली बार वो फिल्मों में नजर आए थे।

समर्थ की एक खासियत का उन्हें सफल बनाने में अहम रोल रहा है, वो है उनका Positive Attitude और Positive Thought समर्थ के मुताबिक एक्टिंग के शुरूआती दिनों में बहुत से लोगों ने उन्हें इस फील्ड से दूर रहने की सलाह दी। मायानगरी में हर रोज हजारों आंखों में पलने वाले सपनों के मरने की दुहाई दी और कहा गया कि यहां स्ट्रगल बहुत है। लेकिन समर्थ ने अपने जुनून के आगे किसी की नहीं सुनी और निकल पड़े मुंबई अपने देखे हुए सपनों में रंग भरने।

फैमिली सपोर्ट ने स्ट्रगल को किया आसान

समर्थ बताते हैं कि पेशे से वकील पिता ने कभी भी कोई क्षेत्र चुनने के लिए उन पर किसी तरह का दबाव नहीं बनाया बल्कि खुले आसमां की उड़ान भरने के लिए हमेशा हौंसला ही बढ़ाया। समर्थ कहते हैं कि आज के प्रतिस्पर्धात्मक दौर में बच्चों को मां-बाप का सपोर्ट बेहद जरूरी है ताकि वो अपने इंट्रेस्ट और अपनी काबिलियत के हिसाब से सही करियर चुन सकें। फैमिली सपोर्ट के कारण ही उन्हें स्ट्रगल का कभी अहसास तक नहीं हुआ।समर्थ का मानना है कि अगर किसी काम को करने में अगर आपको संतुष्टि और खुशी मिले तो उसे कभी नहीं छोड़ना चाहिए और निगेटिव चीजों से हमेशा बेहद दूर रहना चाहिए। भले ही स्टार्टिंग में असफलता मिले, निराशा हाथ लगे लेकिन पॉजिटिव सोच के साथ अपना प्रयास हमेशा जारी रखना चाहिए। समर्थ युवाओं को भी यही सलाह देते हैं कि आपने जो सोचा है, उसे पूरा करने में जी-जान के साथ जुट जाओ। एक दिन मंजिल जरूर मिलेगी।

 छोटे परदे पर अलग-अलग किरदार निभा चुके समर्थ ने अपने को प्रूफ कर दिया है कि वो एक वर्सेटाइल एक्टर हैं। कोई भी रोल हो वो उसमे बखूबी उतर सकते हैं। मल्टी टैलेंटेड समर्थ एक वेब सीरीज की स्टोरी भी लिख रहे हैं, उसके अलवा इस इयर उनके पास कई सारे प्रोजेक्ट्स भी हैं। जिसके लिए वो अपनी फिटनेस का ख्याल रखते हुए दिन रात मेहनत कर रहे हैं क्योंकि इस दिल्ली बॉय को अभी मायानगरी के चमकीले आसमां में बहुत उची उड़ान भरनी है।

Story By Neha Yadav

 

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *