LOADING

Type to search

Share

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों के परिजनों को राजस्थान के एक वैज्ञानिक ने 110 करोड़ रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है. उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने का समय मांगा है।


मिलिए नेकदिल वैज्ञानिक से 

पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों की मदद के लिए वतन के नागरिकों ने गजब का जज्बा दिखा भारत के दिल में बसने वाली भाईचारे की भावना की आत्मा को अमर कर दिया है। समाज का हर वर्ग देश के लिए मर मिटने वालों की सहायता के लिए आगे रहा है। इसी सिलसिले में अब शहीद जवानों के परिजनों की मदद के लिए मुंबई का एक ऐसा शख्स सामने आया है,जिसे कभी जिंदगी ने खुद की जरूरतों के लिए भी मोहताज बनाने की भरसक कोशिश की मगर उसने कभी हार नहीं मानी, पहले अपने  टैलेंट के बूते खुद खड़ा हुआ और अब पुलवामा में शहीद हुए 40 जवानों के परिवार को अपने कमाई के 110 करोड़ रुपये प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में दान करने की पेशकश की है।

मुर्तज़ा की दौलत भले ही अंबानी, टाटा, बिड़ला, अडानी, अजीम प्रेमजी, लक्ष्मीनिवास मित्तल, हिन्दुजाओं, पालनजी शापूरजी मिस्त्री, शिव नाडार, गोदरेजों, दिलीप संघवियों और पीरामलों आदि से कम हो, लेकिन उनमें जज़्बा इन जैसे धन कुबेरों से कहीं ज़्यादा ही है।

मुंबई में रहने वाले एक नेत्रहीन मुर्तज़ा अली हामिद मूलत: कोटा के रहने वाले हैं।  मुर्तजा ने पीएमओ में मेल करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने का समय भी मांगा है। शहीदों के परिजनों को यह व्यक्तिगत हैसियत से सबसे बड़ी मदद है। मुर्तज़ा यह राशि अपनी टैक्सेबल आय से देंगे। मुर्तज़ा के मेल के जवाब में प्रधानमंत्री राहत कोष के डिप्टी सेक्रेटरी अग्नि कुमार दास ने कागजी कार्रवाई के लिए मुर्तज़ा की प्रोफाइल मांगी थी। मुर्तज़ा ने प्रोफाइल, पैन कार्ड सहित राशि की पूरी डिटेल पीएमओ को भेज दी है।  मुर्तज़ा चाहते हैं 110 करोड़ का चेक सौंपने के साथ-साथ सामाजिक कार्यों के लिए नई योजनाओं औरव कुछ नई टेक्नोलॉजी के बारे में भी पीएम से उनकी बातचीत हो।

देख नहीं सकते मुर्तजा, नई तकनीकों पर कर रहे काम

44 साल के मुर्तजा अली कोटा के रहने वाले हैं और वह जन्म से ही नेत्रहीन हैं। उनकी पढा़ई कोटा के कॉमर्स कॉलेज से हुई है। उन्होंने वहां से स्नातक की पढ़ाई की। उनका परिवारिक व्यापार ऑटोमोबाइल का था। नेत्रहीन होने के कारण उसमें नुकसान हो रहा था। ऐसे में उन्होंने मोबाइल और डिश टीवी के क्षेत्र में काम शुरू किया। साल 2010 में वे किसी काम से जयपुर गए और यहां हुई एक  एक घटना ने उनकी जिंदगी बदल दी। दरअसल वो  एक पेट्रोल पंप पर तेल ले रहे थे, इस दौरान वहां एक शख्स के मोबाइल पर फोन आया, उस व्यक्ति ने फोन रिसीव किया और आग लग गई। इसका कारण जानने के लिए मुर्तजा ने स्टडी शुरू की। इस तरह उन्होंने फ्यूल बर्न रेडियेशन टेक्नोलॉजी का इजाद किया। इस टेक्नोलॉजी के जरिए जीपीएस, कैमरा या अन्य किसी उपकरण के बगैर ही किसी भी वाहन को ट्रेस किया जा सकता है। मुर्तजा नके इस अविष्कार को एक कंपनी ने खरीद लिया और बदले में उन्हें मोटी रकम मिल गई। इस राशि को उन्होंने देश के शहीद परिवार को समर्पित करने का निर्णय लिया है।

हिंदुस्तान के असल हीरो के लिए ‘thank you’ का अलहदा अंदाज

मुर्तजा को एक चीज का मलाल…

मुर्तुजा की माने तो उन्होंने फ्यूल बर्न रेडिएशन टेक्नोलॉजी के जरिए किसी भी वाहन को बिना जीपीएस, कैमरा और अन्य किसी उपकरण के ही ट्रेस कियाजा सकता है। अगर उनके अविष्कार को सरकार समय पर मान्यता दे देती तो आज पुलवामा जैसे हमले रोके जा सकते थे। मुर्तजा के मुताबिक उनकी खोज को 2016 में सरकार और नेशनल हाइवे अथॉरिटी से प्रस्ताव लेने के भेजा गया जिसकी मंजूरी अक्टूबर 2018 में मिली और वो भी अधूरी।

मुर्तज़ा का दावा है उन्होंने सरकार को इस तकनीकी सहायता का ऑफर किया था मगर ऐसा नहीं हुआ,अगर  इस तकनीक को सरकार समय पर मान्यता दे देती तो पुलवामा जैसी घटना को रोका जा सकता था।

बहरहाल देश और समाज की मदद के साथ-साथ मुर्तजा का नई-नई अविष्कार करने का जुनून अभी मंद नहीं पड़ा है। आने वाले समय में वो कुछ और महत्वाकांक्षी परियोजनाओं पर काम करना चाहते हैं। वाकई मुर्तजा की कहानी जिंदगी में आगे बढ़ने के हौसलें के साथ ही देशभक्ति का संदेश तो देती ही है साथ ही अपने सियासी स्वार्थ के लिए समाज में जाति-धर्म के नाम पर नफरत फैलाने वाले हुक्मरानों को भी आईना दिखाती है।

साभार: प्रकाश हिंदुस्तानी सर/प्रजातंत्र इंदौर

Tags:

1 Comments

  1. Murtaza ali hamid ka campany ka kia name hai unka office Mumbai ka kia Adddres bata saktay hai projects k meater me unse milna hai Md Ghoulam haqqani President of MMS CHARITABLE At kaldehi Nigham chowck p.o jhaua p.s kadwa Dist katihar Bihar more information http://www.mmscharitabletrust.co in emil id mmscharitabletrustktr@gmail.com contact 963154450

    Reply

Leave a Reply

%d bloggers like this: