LOADING

Type to search

देशी boy ने बनाई वर्ल्ड की पहली वुड्स बाइक

mayankshukla 4 years ago
Share

स्टार्टअप के इस जमाने में दुनिया काफी आगे निकल चुकी है, लगभग सभी क्षेत्रों में नए-नए और अनोखे कारनामे हो रहे हैं। देश के छोटे-छोटे शहरों से बड़े टैलेंट निकल कर सामने आ रहे हैं और भारत के युवा अपनी नई सोच और वीजन से दुनियाभर में नाम कमा रहे हैं। हमारी आज की कहानी भी उत्तरप्रदेश के एक छोटे से शहर मुजफ्फरनगर में रहने वाले एक ऐसे ही शख्स की है जिसने अपनी बड़ी सोच और नए कारनामे से पूरी दुनिया को दंग कर दिया है।

हाईस्पीड बाइक से लेकर अलग-अलग इंजन वेरिएंट में आपने कई बाइक देखीं होंगी लेकिन क्या आपने कभी लकड़ी की बाइक देखी है। जी हां एक ऐसी गाड़ी जिसकी पूरी बॉडी आयरन की नहीं बल्कि लकड़ी की बनी हो। चौंकिए मत मुजफ्फरनगर के गांधी कालोनी में रहने वाले राज शांतनु ने दुनिया की पहली लकड़ी की बाईक बनाई है जो किसी भी मायने में बड़ी ब्रांड की गाड़ियों से कम नहीं है।

देशी स्टाइल में तैयार की गई ये स्टाइलिश बाइक जब सड़क पर सरपट दौड़ती है तो देखने वालों का मजमा लग जाता है और हर किसी के दिल में इसकी सवारी की हसरत जाग उठती है। बाइक को बनाने वाले शांतनु औद्योगिक घराने से ताल्लुक रखते हैं और अपने पिता की कंपनी में डायरेक्टर हैं। शांतनु ने अपनी इस स्पेशल का बाइक का नाम ‘वूडी पैशन’ रखा है।

अगर आप भी अनोखी बाइक का शौक रखते हैं तो इस बाइक को देखकर आपका मन भी इसकी सवारी करने को बेताब हो जाएगा। स्टाइलिश लुक के अलावा इसमें और भी कई विशेषताएं हैं।

इस बाइक की लंबाई आम बाइक की तुलना में अधिक है। इसमें 180 सीसी का दमदार इंजन दिया गया है, जो इसे और पावर फुल बना देता है। वहीं इंजन को ठंडा रखने के लिए रेडियेटर से भी लैस किया गया है। इसके अलावा स्पॉट्स बाइक के रेडियल टायर लगे हैं जो सस्पेंशन का काम करते हैं।

ये बाइक एक लीटर पैट्रोल में 15 किलोमीटर चलती है। दो लोग इस पर आसानी से बैठकर सफ़र का आनंद ले सकते हैं। बाइक की हेड लाइट को अपने हिसाब से कंट्रोल किया जा सकता है। खास बात ये है कि बाइक में कोई शॉकर नहीं दिया गया है, इसमें लगे स्पॉट्स    (रेडियल टायर) बाइक के सस्पेंशन का काम करते हैं। इसे बनाने में लगभग ढाई लाख रूपये की लागत आई है।

जिंदगी में हर व्यक्ति के पास कुछ न कुछ टैलेंट जरूर होता है। कुछ कर गुजरने का जज्बा ही इंसान को कतार से अलग खड़ा करता है। वो जुनून ही है, जो इंसान को अलग पहचान देता है। राज शांतनु ने भी अपने जुनून को फितूर बनाया और दुनिया की पहली लकड़ी की बाइक बनाकर अपनी एक अलग पहचान भी बनाई।

Tags:

You Might also Like

Leave a Reply

%d bloggers like this: