LOADING

Type to search

अपने VISION से बिजनेस का ट्रेंड बदलने वाले युवा अक्षय भाटिया की Story

mayankshukla 4 years ago
Share

कहते हैं वक्त के साथ जरूरतें भी बदल जाती हैं.हर जरूरत कई नई संभावनाओं को जन्म देती है या फिर यूं कहें कि जरूरत ही एक नई सोच का आधार है,जिससे कई संभावनाएं जुड़ी होती हैं.यही वजह है कि आज की तेज रफ्तार से भागती जिंदगी में लोगों की बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए बिजनेस के पुराने तौर-तरीके भी लगातार बदल रहे हैं.नए-नए बिजनेस मॉडल सामने आ रहे हैं.आज हम आपको एक ऐसे ही युवा की कहानी सुनाने जा रहे हैं जिसने अपने VISION और अलग IDEA के जरिए भारत में बिजनेस का नया ट्रेंड स्टार्ट किया.

लो अब घर का खाना पसंद करने वालों के लिए आई एक अनोखी APP

IDEA तो ज्यादातर लोगों के पास होते हैं पर उसे उसे बिजनेस में बदलने की हिम्मत कम लोग ही जुटा पाते हैं.कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अपने अनोखे आईडिया के बूते अच्छा खासा काराबोर खड़ा कर लेते हैं.एक ऐसे ही युवा का नाम है अक्षय भाटिया,जिन्होंने लीक से हटकर सोचा और आज के हाईटेक जमाने में बिजनेस का एक नया कान्सेप्ट लेकर आए. लंदन रिटर्न अक्षय ने मटरफ्लाई नाम की एक ऐसी एप बनाई है जो आपके बेहद काम की है.जैसे आपको अगर पड़ोसी के घर खाना खाना है,किसी से गिटार या फिर जरूरत की कोई दूसरी चीज पास के किसी व्यक्ति से लेना है तो ये एप उसमें आपकी मदद करती है.

अक्षय कहते हैं:

Mutterfly is an online marketplace that lets you rent cameras, Playstation, Hoverboard, GoPro from people nearby and helps you earn by renting your items.Borrow items you need from people nearby. Earn by renting items you own

               खाने के शौकीनों के लिए बड़े काम की है मटरफ्लाई एप

शुरूआत में इसे एक फूड शेयरिंग वेबसाइट की तर्ज पर शुरू किया गया था.इस ऐप के जरिए आप अपने आसपास के ऐसे लोगों के बारे में जान सकते हैं, जो आपके साथ खाना शेयर करने को तैयार हैं. इसके लिए कंपनी कोई चार्ज नहीं करती, लेकिन यूजर चार्ज कर सकता है.इस ऐप के इस्तेमाल से लोग पड़ोसियों के यहां खाने पर जा सकते हैं.मगर धीरे-धीरे अक्षय ने इस ऐप में कई और फीचर्स एड किए.जिसके जरिए आप अपने आसपास के लोगों से उनका कैमरा,प्लेस्टेशन जैसी कई चीजें रेंट पर ले सकते हैं.इसके अलावा मटरफ्लाई के जरिए अक्षय BEER BATTLE,GAMING NIGHT जैसे इवेंट्स का आयोजन करते रहते हैं.जिसमें मुंबईकर खासतौर पर युवा बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं.

 

नौकरी छोड़कर शुरू की ऐप

इस ऐप को 24 वर्षीय अक्षय भाटिया ने शुरू किया है. वह लंदन में ‘मॉर्गन स्टैनली’ नाम की कंपनी में काम किया करते थे. अक्षय ने लंदन में घर से बाहर रह रहे लोगों, खासकर अकेले युवाओं को अच्छे खाने के लिए तरसते देखा. इसके बाद उन्हें यह ऐप शुरू करने का विचार आया. इसके बाद वह नौकरी छोड़कर भारत आ गए और इस काम में जुट गए. अपनी नौकरी छोड़ स्वदेश लौटे अक्षय ने ‘फ़ूड शेरिंग प्लेटफॉर्म’ के आधार पर यह ऐप बनाई जहां आप अपना खाना अपने पड़ोसी के साथ स्वेच्छा से बांट सकते हैं.

 

24 वर्षीय अक्षय भाटिया लंदन में ‘मॉर्गन स्टैनली’ नाम की कंपनी में काम किया करते थे.जहां उन्होंने लोगों, ख़ासकर अकेले युवाओं को अच्छे खाने के लिए तरसते देखा और य  ‘मटरफ़्लाई’ मोबाइल ऐप बनाने का ख़्याल आया.

 

 

Tags:

Leave a Reply

%d bloggers like this: