LOADING

Type to search

योग के जरिए देश के ‘सांप्रदायिक स्वास्थ्य’ को तंदुरुस्त बनाने वाली पूर्व मिस इंडिया की कहानी

mayankshukla 3 years ago
Share

योग के जरिए सांप्रदायिकता के रोग को मिटाने के लिए छेड़ी अनूठी मुहिम

जहां एक तरफ देश में आज सियासी मुनाफे के लिए आपसी प्यार, सौहाद्र और भाईचारे की दीवार में दरार डालने की नापाक कोशिश की जा रही है, वहीं दूसरी तरफ समाज में गहराते तनाव के बीच एक पूर्व मिस इंडिया और मौजूदा इंटरनेशनल योगा ट्रेनर ने इन दिनों योग के जरिए दिलों को जोड़ने और सामाजिक सद्भावना को बढ़ाने का अनूठा अभियान शुरू किया है.

फेस योगा की खोज के जरिए दुनियाभर में अलग पहचान वाले वाली पूर्व मिस इंडिया मानसी गुलाटी इन दिनों योग के जरिए देश के अलग-अलग संप्रदायों के दिलों को भी जोड़ने का काम कर रही हैं. मानसी गुलाटी ने समाज में भाईचारे और सद्भावना को बढ़ाने के मकसद से दिल्ली स्थित हुमायूं के मकबरे में एक ऐसे योग शिविर का आयोजन किया जिसमें हिंदू,मुसलमान और सिक्ख समेत सभी धर्मों के बच्चों ने एक साथ योगा किया.शिविर में देशभक्ति के तरानों के जरिए बच्चों में राष्ट्रीयता का भाव भी जगाया गया.इस दौरान अलग-अलग सियासी दलों और संगठनों के नेताओं के साथ कई सामाजिक कार्यकर्ता भी कार्यक्रम में मौजूद रहे.

यूएस की सरजमी में योग का झंडा फहराने के बाद इंटरनेशनल योगा ट्रेनर मानसी गुलाटी ने तय किया है कि वो हिंदुस्तान के उन इलाकों में जाकर योग की शिक्षा देंगी जहां सामाजिक तनाव का माहौल व्याप्त है और समुदायों के बीच खाई बढ़ती जा रही है.मानसी को यकीन है कि योग के जरिए समाज और इंसान के तनाव को संतुलित किया जा सकता है.

भारतीय स्मारकों को बचाने के लिए चलाया जागरुकता अभियान

Face Yoga Exponent Mansi Gulati, giving tips for NIFT students

‘मिसेज इंडिया इंटरनेशनल 2015’ मानसी गुलाटीइससे पहले भारतीय संस्कृति,विरासतों और स्मारकों को बचाने के लिए भी जागरुकता अभियान चला चुकी हैं.

मिसेज इंडिया इंटरनेशल 2015 की विजेता मानसी गुलाटी

इंटरनेशनल योगा ट्रेनर और मिसेज इंडिया इंटरनेशनल रह चुकी मानसी गुलाटी तकरीबन डेढ़ दशक से योग के क्षेत्र में काम कर रही हैं.उन्हें प्यार से लेडी रामदेव के नाम से भी पुकारा जाता है.मानसी को फेस योग की अवधारणा विकसित करने का श्रेय जाता है.मानसी देश के विभिन्न स्थानों पर व्याख्यान, कार्यशालाओं, शिविरों और सांस्कृतिक संसाधन और प्रशिक्षण जैसे कार्यक्रमों का आयोजन करती रहती हैं. भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण,तेलंगाना और आंध्र प्रदेश सरकार के आयुष एवं केंद्र के साथ समन्वय बनकर योग के क्षेत्र में भी लगातार काम कर रही हैं.मानसी ने  तेलंगाना राज्य पुलिस अकादमी, हैदराबाद में सैन्य प्रतिष्ठानों और विशाखापत्तनम में पूर्वी नौसेना कमान पर भी कार्यशालाएं की हैं.वो कई भारतीय जेलों, विश्वविद्यालयों और स्कूलों में योग प्रशिक्षण भी दे रही हैं , इसके अलावा कैदियों के लिए भी अलग से योग सत्र का आयोजन कर चुकी हैं.

 

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *